259+ Best Bhagavad Gita Quotes in Hindi & English | भगवत गीता के अनमोल वचन {2023}

 Bhagavad Gita Quotes in Hindi & English | भगवत गीता के अनमोल वचन, Quotes From Bhagavad Gita on Success


|| यथा यथा सत्यं भवसि तथा तथा एकाकी भविष्यति ॥

 ||  श्री कृष्ण जी कहते है || 
जितने सच्चे रहोगे, उतने ही अकेले रहोगे।



नमस्ते दोस्तों फिर से आप सभी का हमारे नये पोस्ट पर स्वागत है. दोस्तों आज का topic आप सभी के लिये बहुत ही उपयोगी है जो आप की ज़िन्दगी को पूरी तरह से बदल देगी.. आप के जीवन मैं जो उदासी और निराशा पन को ख़त्म कर देगा. दोस्तों अगर आप श्रीमद भगवत गीता के अनमोल वचन हिंदी और इंग्लिश मैं पढ़ना चाहते है तो दोस्तों आप बिलकुल सही जगह पर आये हुए.Good4shayari.com आप के लिये ऐसे ऐसे अच्छे अच्छे quotes लेकर आता रहता.


——————————————————————————————-


भगवत गीता के अनमोल वचन


  श्री कृष्ण कहते है..

अकेले रहो और बस अपने पर ध्यान

दो भगवान कोई ऐसा व्यक्ति आप
की ज़िन्दगी मै जरूर भेजेगा जो 
सच मै आप के लायक हों


Shri Krishan kehte hai
Akele raho aur bus apne par
 dhyaan do bhagwan koi aisa
 vaykti aap ki Zindgi mein
 jaroor bhejega jo Sach mein 
aap ke layak ho

——————————————————————————————-

श्री कृष्ण कहते है 
जो इंसान अपनी इन्द्रियों पर काबू 
नहीं रख पाता वो इन्द्रिया उसे पतन
 पर ले जाता है

Shri Krishan kehte Hai.
Jo insaan apni Indriyo par
 kabu nhi rakh pata Vo indriya
 use patan par le jata hai.


——————————————————————————————-

श्री कृष्ण जी कहते है
प्रेम का अर्थ विवाह करना नहीं होता है
बल्कि पूरी ईमानदारी के साथ समर्पण करना होता है

Shri Krishan kehte Hai
Prem ka arth vivah karna
 Nhi hota hai balki puri
 Imaandari ke saath samarpan
 karna hota ha

——————————————————————————————-

श्री कृष्ण कहते है 

मेरी इच्छा के बिना तुम्हें कोई छू 
भी नहीं सकता तो भय किसका
 करते हों जब मै स्वयं तुम्हारे साथ
 हूँ



Shri Krishan kehte hai
Meri ichaa ke bina tumhein 
koi chu bhi nhi sakta to
 bhay kiska karte ho jab mein
 svym tumhare Saath Hoon

——————————————————————————————-

Bhagavad Gita Quotes in Hindi with images Download 

कलयुग मे रिश्ते खेल बन जाएंगे बिना स्वार्थ के
 कोई भी रिश्ता नही टिकेगा। सुबह एक दूसरे के
 साथ जीवन भर रिश्ता निभाने की सोगन्ध खाने 
वाले भी शाम तक एक दूसरे के खून के प्यासे हो
 जाएं तो भी कोई आश्चर्य नही होगा धर्म और 
ईश्वर मजबूरी में याद आएंगे कलयुग का 
भगवान सिर्फ पैसा होगा ।


____________________________________________________________


निस्वार्थ कर्म करते रहिए जो भी होगा 
अच्छा ही होगा थोड़ा विलंब होगा पर 
सर्वश्रेष्ठ होगा .


Niswrath Karm Karte Rahiye Jo Bhi Hoga
Acha Hi Hoga Thora Bilam Hoga Par
Sarvarsth Hoga

______________________________________________________________

जैसे-जैसे आयु बढ़ती है तुम्हें ये अहसास होने लगता है 
कि तुमने व्यर्थ ही उन लोगों को महत्व दिया जिनका 
तुम्हारे जीवन में कोई योगदान था ही नहीं ।



Jaise Jaise Aayu Badhti Hai Tumhein Ye
 Ehsas Hone Lahta Hai Ki Tumne Vyerth
 Hi Unn Logo Ko Mehtav Diya Jinka Tumhare 
Jivan Mein Koi Yogdaan Tha Hi nhi.



____________________________________________________________


शब्दों का वजन तो बोलने वाले के भाव पर आधारित है,
 एक शब्द मंत्र हो जाता है, एक शब्द गाली कहलाता है’,
 वाणी ही व्यक्ति के व्यक्तित्व का परिचय करवाती है, 
क्योंकि हमारी वाणी ही किसी को हमारे नजदीक तो किसी 
को हमसे दर करवाती है।

______________________________________________________________

जिस इंसान की सोच और नियत अच्छी होती है 
भगवान उसकी मदद करने किसी न किसी रूप में 
जरूर आते हैं !!


Jis Insaan Ki Soch Aur Niyat Achi Hoti Hai,
Bhagwan Uski Mdat Karne Kisi N kisi Roop Mein
Jaroor Aaate Hai.



_________________________________________________________________


एकांत तुम्हारा स्वभाव है,
 तुम अकेले पैदा हुए तुम
 अकेले ही मरोगे!


___________________________________________________________



जिसने कभी विपत्तियां नहीं देखीं, 
उसे अपनी ताकत का कभी अहसास 
नहीं होगा..!!

____________________________________________________________


कलयुग नहीं मतलबी युग चल रहा है… 
जब तक आप सामने वाले के मन की 
करते हैं, तो अच्छे है, एक बार अपने 
मन की कर ली, तो सभी अच्छाईया 
बुराई मे बदल जाती है.!!

_______________________________________________________________

सभी को खुश करना हमारे वश में नहीं 
लेकीन यह हमारे वश में है की हमारी वजह से किसी को
दुःख न पहुंचे..!


______________________________________________________________

“हम ऐसे समाज में निवास कर रहे हैं, 
जहा सिर्फ “लोग क्या कहेंगे ?” इसी
 वाक्य से हज़ारों सपने बिखरकर, सिर्फ 
सपने ही रह जाते हैं! स्वंय के लिए स्वयं ही 
निर्णय लेना सीखिए।



_______________________________________________________________


अन्याय एवं अधर्म केवल असभ्य लोगों के
 कारण ही नहीं होता न्याय और धर्म को 
जानने वाले सभ्य लोगों का मौन भी 
इसमे सम्मलित होता है.!
॥ कृष्ण ज्ञान ।।

_______________________________________________________________

कभी कभी आप केवल इतना कर सकते है 
कि सब कृष्ण के हाथ में छोड़ दे और
 प्रतीक्षा करें..

________________________________________________________________

॥ कृष्ण ज्ञान ।।

प्रभु हमारी प्रार्थना को कभी नज़र अंदाज़ नहीं 
करते हैं। वो हमेशा किसी न किसी रूप
 में मदद कर ही देते हैं।


________________________________________________________________

सुदामा ने श्री कृष्ण भगवान से पूछा
 प्रभु “मौन” और मुस्कान मैं क्या अंतर है? 
तो ने ‘कृष्ण भगवान ने बहुत सुन्दर जवाब
दिया……
“मौन” और “मुस्कान” दो शक्तिशाली 
हथियार होते हैं! “मुस्कान” से कई समस्याओं 
को हल किया जा सकता है और
“मौन” रहकर कई समस्याओं
को दूर रखा जा सकता है !!

_________________________________________________________

॥ श्री कृष्णा जी कहते है ।
किसी भी व्यक्ति से ज्यादा लगाव हानिकारक है 
क्योंकि लगाव उम्मीद की ओर ले जाता है
और उम्मीद दुख का कारण बनती हैं


________________________________________________________________

सदैव ईश्वर पर विश्वास रखिए आपको 
उससे उत्तम दिया जायेगा जो आपसे
 लिया गया है।

________________________________________________________________

आप कोई भी हों, संसार में आए हैं तो संघर्ष
 हमेशा रहेगा,कृष्ण कहते हैं परिस्थितियों से 
भागो मत, उसके सामने डटकर खड़े हो
 जाओ, क्योंकि, कर्म करना ही मानव जीवन का 
पहला कर्तव्य है। हम अपने कर्मों से ही परेशानियों 
से जीत सकते हैं।

Bhagvad gita anmol vichar

Heart touching भगवत गीता के अनमोल वचन


॥ कठिनमार्गः सुन्दरं गन्तव्यं प्रति गच्छति ॥
कठिन रास्ता खूबसूरत मंजिल तक ले जाता है 

****************

॥ कालः परिवर्तन शिक्षयति, न तु निवर्तयितुं ॥ 
समय बदलना सिखाता है, रुकना नहीं


********************


॥ यदि समस्या अस्ति तर्हि समाधानम् अस्ति अवश्यं भविष्यति ॥
अगर समस्या है तो समाधान भी जरूर होगा


*********************


॥ धैर्यं सर्वेषां प्रश्नानां सम्यक् उत्तरम् अस्ति ॥
धैर्य सभी सवालों का सही जवाब है

*****************************

॥ अनावश्यकनाटकात् मौनं श्रेयस्करम् ॥
मौन अनावश्यक नाटक से बेहतर है


***************************



॥ कदापि व्यक्तिं अन्यं विस्मर्तुं न उपयुञ्जीत ॥
किसी व्यक्ति का उपयोग दूसरे को भूलने के लिए कभी न करें



**************************



॥ विश्वासः कालः सर्वं समाधायति ॥
समय पर भरोसा करो, यह सब कुछ ठीक कर देता है

****************************

॥ दृष्टिः यस्य सः, तथैव जगत् पश्यति ॥
जिसकी जैसी दृष्टि होती है, उसे संसार वैसा ही दिखाई देता है


***************************

Leave a Comment